उत्तराखंडः पहाड़ में भी बच्चा चोर गिरोह की दहशत,शक में पांच लोगों को भीड़ ने घेरा

पहाड़ में अब बच्चा चोर गिरोह की दहशत फैलने लगी है। पौड़ीखाल में शनिवार रात को टैक्सी से पहुंचे पांच अपरिचित लोगों को स्थानीय लोगों ने बच्चा चोर गिरोह के शक में घेर लिया। पांचों लोगों ने स्वयं को फेरीवाला बताया, लेकिन लोग नहीं माने और मारने पीटने पर उतारू हो गए।

हंगामा बढ़ने के कुछ देर एसआई पुलिस टीम के साथ पहुंचे और मामला शांत कराया। निवर्तमान प्रधान रजनीशकांत तिवाड़ी ने बताया कि जब यह पांचों लोग रात को एक होटल में खाना खाने के लिए पहुंचे तो वहां मौजूद लोगों को इन पर बच्चा चोर गिरोह होने का शक हुआ। जिस पर बड़ी संख्या में पहुंचे लोगों ने इन्हें घेर लिया।

पूछे जाने पर इन लोगों ने स्वयं को फेरीवाला बताया, लेकिन तब भी लोगों को इनकी बातों पर भरोसा नहीं हुआ। लोग मारने पीटने पर उतारू हो गए। इस बीच वहां पहुंचे निवर्तमान प्रधान तिवाड़ी और पूर्व प्रधान केशवानंद डंगवाल सहित कमलजीत डबोला ने पुलिस को इसकी सूचना दी।

मौके पर पहुंचे एसआई मिथुन कुमार इन पांचों को थाना ले गए। इस दौरान संदिग्धों की पहचान किए जाने को लेकर स्थानीय लोगों ने पुलिस के समक्ष जमकर हंगामा भी किया, जिसके बाद थाना प्रभारी हिंडोलाखाल जेपी कोहली ने लोगों को बताया कि पांचों लोगों से पूछताछ की गई है। उनके नाम और पते का भी सत्यापन किया गया है।

यह लोग मूलरूप से रामपुर उत्तर प्रदेश के निवासी है। जो कि काफी समय से सतपुली में रहकर फेरी का काम करते हैं। फेरी करने के लिए ही यह लोग यहां पहुंचे थे। पुलिस के समझाने के बाद लोगों का गुस्सा शांत हो पाया। जिसके बाद लोग वापस अपने घरों को लौट गए।

बच्चा चोरी की अफवाहों की रोकथाम के दिए निर्देश

थाना पुलिस ने आगामी पंचायती चुनावों और अजनबी लोगों की गतिविधियों पर नजर रखने के संबंध में ग्राम प्रहरियों की बैठक ली। इस अवसर पर बच्चा चोरी संबंधी अफवाहों की रोकथाम के लिए ग्राम प्रहरियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए।

थाना परिसर में आयोजित बैठक में थाना प्रभारी महिपाल सिंह रावत ने कहा कि आजकल सोशल मीडिया में बच्चे चोरी की गलत पोस्टों के कारण क्षेत्र में अफवाहें चल रही है। इससे बेकसूर लोग निशाने में आ रहे हैं।

उन्होंने कहा कि सभी ग्राम प्रहरी अपने अपने-अपने क्षेत्रों में लोगों को बताए कि यदि उनको कोई संदिग्ध व्यक्ति दिखाई देता है, तो  वह उसकी सूचना तत्काल पुलिस को दे। साथ ही उक्त व्यक्ति के साथ मारपीट न करें, पहले सत्यता को जानें।

उन्होंने आसपास के क्षेत्र के सभी पूर्व प्रधानों, क्षेत्र पंचायत सदस्यों और जिलापंचायत सदस्यों से ऐसी अफवाहों को रोकने में आगे आने को कहा। इस मौके पर  ग्राम प्रहरी महावीर सिंह, नारायण सिंह, अर्जुन सिंह, विशनपाल, सुरेंद्र दत्त, परमानंद, चैत सिंह, जबर सिंह व शिव सिंह ने अपने क्षेत्रों की स्थिति के बारे में जानकारी दी। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *