100 दिन में दिखा दमदार सरकार का ट्रेलर, फिल्म अभी बाकी: PM

गुरुवार को झारखंड के रांची में चुनावी बिगुल फूंकते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किसान मानधन योजना सहित कई विकास योजनाओं की शुरुआत की। योजना की शुरुआत करने के बाद प्रधानमंत्री ने देश के कई राज्यों के कुछ किसानों को पेंशन का कार्ड भी सौंपा।

रांची में स्थानीय भाषा में अपने भाषण की शुरुआत करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि झारखंड गरीबों से जुड़ी बड़ी योजनाओं के लिए लॉन्चिंग पैड है। हमने यहां से आयुष्मान भारत, किसानों से जुड़ी बड़ी योजनाओं की शुरुआत की। उन्‍होंने कहा कि चुनाव के वक्त मैंने आपसे कामगार-दमदार सरकार देने का वादा किया था, बीते सौ दिन में देश ने ट्रेलर देखा है, अभी पूरी फिल्म बाकी है।

जम्मू-कश्मीर में विकास करने पर है हमारा फोकस: पीएम मोदी

प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारा संकल्प है जनता को लूटने वालों को उनकी सही जगह पहुंचाने का, इसपर काम हो रहा है और कुछ लोग चले भी गए हैं। हमारा फोकस जम्मू-कश्मीर में विकास करने पर है, आतंक को बढ़ावा देने वालों को कड़ा एक्शन करने पर है। पीएम मोदी ने कहा कि हमारी सरकार ने कामगारों, व्यापारियों, किसानों को पेंशन की योजना दी, जो देश को बनाता है, उनका सम्मान हमारी सरकार कर रही है। आज यहां से नए जलमार्ग की शुरुआत हुई है, जिससे झारखंड सीधे दुनिया से जुड़ पाएगा।

वहीं, प्रधानमंत्री के संबोधन से पहले राज्य के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने अपने संबोधन में आर्टिकल 370, तीन तलाक बिल जैसे फैसलों के लिए पीएम नरेंद्र मोदी का शुक्रिया अदा किया और उन्हें बधाई दी।

आपको बताते चलें कि महाराष्ट्र और हरियाणा के साथ-साथ इस साल झारखंड में भी विधानसभा के चुनाव होने हैं। प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना के तहत तीन-तीन हजार रुपये पेंशन के तौर पर किसानों को दिए जाएंगे। इस योजना की शुरुआत करने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने झारखंड के नए विधानसभा भवन का उद्घाटन भी किया। बिहार से अलग राज्य बनने के करीब 19 साल बाद झारखंड को आज अपना नया विधानसभा भवन मिला है। इसके साथ ही पीएम नरेंद्र मोदी ने साहेबगंज के मल्टी मॉडल हब का उद्धाटन किया। इसके शुरू होने के बाद जलमार्ग से लोग सस्ती दरों पर माल की ढुलाई कर सकेंगे। ये ढुलाई बांग्लादेश, म्यांमार समेत कुछ दूसरे देशों को भी हो सकेगी।

प्रधानमंत्री ने 462 एकलव्य मॉडल स्कूल की रखी ऑनलाइन आधारशिला

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आदिवासियों को साधने के लिए 462 एकलव्य मॉडल स्कूल की ऑनलाइन आधारशिला रखी। इनमें से 69 स्कूल झारखंड में खोले जाएंगे। एकलव्य मॉडल स्कूल की स्थापना उन प्रखंडों में होगी, जहां अनुसूचित जनजाति की आबादी 50 फीसदी से ज्यादा हो या उनकी जनसंख्या 20 हजार से अधिक हो। इसकी स्थापना केंद्र और राज्य सरकार मिलकर करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *