जानिए कौन थी वो महिला जिसने पाकिस्तान से वाघा बॉर्डर तक दिया अभिनंदन का साथ

pakistan refuses to return abhinandans belongings

शुक्रवार का दिन पूरे हिन्दुस्तानियों के लिए साल का सबसे बड़ा दिन साबित हुआ . पूरे देश को अपने वीर सपूत अभिनंदन के दर्शन करने के लिए बहुत इन्तेजार करना पड़ा . शुक्रवार दोपहर से ही सबकी नज़रे अपने-अपने टेलीविज़न सेट्स पर लग गई थी . हर किसी को वो लम्हा अपनी आँखों से देखना था जब भारत का शेर अभिनंदन पाकिस्तानियों के चंगुल से छूट कर आ रहा था . वाघा बॉर्डर पर भी उनका स्वागत करने के लिए भीड़ का जमावड़ा लगा रहा .

हालांकि पाकिस्तान ने भारतियों का मज़ा किरकिरा करने का कोई मौका नही छोड़ा और कानूनी कार्यवाही के नाम पर हमारे वीर अभिनंदन को भारत को लौटाने में पूरा दिन लगा दिया . आपको बता दें की पहले अभिनंदन को सुबह रिहा किया जाना था . पर पाकिस्तान ने कागजो को लेकर बहाना बनाते हुए वो समय दोपहर के 2 बजे तक बढ़ा दिया . जिससे दोपहर से ही वाघा बॉर्डर पर देश वासियों का हुजूम लग गया . पर पाकिस्तान हमेशा की तरह अपनी बात से मुकर गए और 2 बजे के समय को रात 9 बजे में तब्दील कर दिया .

आपको बता दें कि गिरफ्तारी के 60 घंटे बाद रात 9:10 बजे पाकिस्तानी अधिकारियों ने अमृतसर के अटारी बार्डर पर अभिनंदन को भारत को सौंप दिया . इस दौरान उनके साथ एक महिला भी थीं . लोग जानना चाह रहे हैं आखिर यह महिला कौन हैं . लोग मान रहे हैं कि यह उनकी पत्नी या परिवार की कोई सदस्य हैं . लेकिन ऐसा नहीं है बल्कि वह पाकिस्तान के विदेश कार्यालय में निदेशक डॉ फरिहा बुगती हैं . 

सूत्रों की माने तो अभिनंदन को भारत को लौटाने में इतना वक़्त इसलिए लगा दिया क्योंकि पाकिस्तानी अधिकारी उनसे कैमरे पर बयान दर्ज करवा रहे थे . हालांकि यह स्पष्ट नहीं है कि उन्हें दबाव में कैमरे के सामने बयान देने को कहा गया या नहीं .लेकिन इस वीडियो में दो दर्जन ऐसे कट हैं जो यह संकेत दे रहे हैं कि इसे परोक्ष रूप से पाकिस्तानी रुख के अनुरूप करने के लिए इसमें बहुत काट-छांट की गई .

भारतीय मीडिया ने लोगो से गुहार लगाई है की ऐसे किसी फेक वायरल विडियो को किसी भी सोशल माध्यम से न फैलाए . ये सब पाकिस्तान के भारत पर मानसिक रूप से दवाब बनाने के तरीके है .

आतंकवादी हमले में शहीद CRPF जवानों को लोक निर्माण विभाग की श्रद्धांजलि

1 thought on “जानिए कौन थी वो महिला जिसने पाकिस्तान से वाघा बॉर्डर तक दिया अभिनंदन का साथ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *