17 साल की रेप पीड़िता ने नवजात को आखिरकार अपनाया,पुलिस को सुनाई आपबीती

gujrat news

साबरमती रेलवे स्टेशन पर एक ट्रेन की सीट के नीचे दो दिन पहले अपनी 25 दिन की बेटी को छोड़ आने वाली 17 साल की मां उसे वापस लेने पुलिस के सामने पहुंची। पुलिस को लड़की ने जो बताया उसे सुनकर उनके होश उड़ गए।

लड़की ने पुलिस को बताया कि उसके साथ रेप हुआ था जिसके बाद यह बच्ची हुई। वह और उसका बॉयफ्रेंड पुलिस के पास बच्ची की कस्टडी के लिए पहुंचे। पुलिस ने उनके खिलाफ बच्ची को छोड़ने का केस दर्ज किया है जबकि रेप आरोपी के खिलाफ पॉक्सो ऐक्ट के तहत केस दर्ज किया है। 

गौरतलब है कि मंगलवार को शाम 5 बजे साबरमती रेलवे स्टेशन पर एक ट्रेन में सीट के नीचे कंबल में लिपटी बच्ची मिली थी। इसे लेकर साबरमती रेलवे पुलिस के पास एफआईआर दर्ज कराई गई थी। पुलिस ने अज्ञात शख्स के खिलाफ आईपीसी की धारा 317 के तहत बच्ची को छोड़ने का केस दर्ज कर लिया। 

पूरी कहानी …

पुलिस अधिकारियों का कहना है कि नाबालिग मां अपने बॉयफ्रेंड के साथ मेहसाणा पुलिस के सामने पहुंची और बच्ची को अपना बताया। जब उससे पूछा गया कि उसने बच्ची को क्यों छोड़ दिया तो उसने बताया कि एक साल पहले उसका रानिप में एक रिक्शा चालक हिमांशु पटेल से संबंध हो गया था। उसके गर्भवती होने पर पटेल उसे छोड़कर चला गया। 

बाद में उसकी मुलाकात मकवाना से हुई जिसने गर्भावस्था में उसका ध्यान रखा। 8 अगस्त को उसने सिविल हॉस्पिटल में बच्ची को जन्म दिया। लड़की और मकवाना ने बच्ची को छोड़ने का फैसला किया लेकिन बाद में उसे अपने फैसले पर अफसोस हुआ। इस पर वह पुलिस के पास पहुंची और पूरी कहानी बताई।

रेलवे पुलिस के अधिकारी ने बताया कि रानिप पुलिस पटेल के खिलाफ रेप और पॉक्सो ऐक्ट के तहत केस दर्ज करेगी। वहीं, मकवाना और रेप पीड़िता के खिलाफ बच्ची को छोड़ने का केस भी दर्ज किया जाएगा। पुलिस ने यह भी सवाल किया है कि सिविल अस्पताल ने नाबालिग की डिलिवरी कराने के बाद पुलिस को क्यों नहीं बताया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *